कैंसर एक ऐसी बीमारी है जिसमें शरीर की कोशिकाएं असामान्य रूप से बढ़ती हैं, जिसमें बढ़ती कोशिकाएं तेजी से अन्य अंगों तक पहुंच जाती हैं।

कभी-कभी यह बिना लक्षणों के भी हो सकता है लेकिन ज्यादातर मामलों में कैंसर के लक्षण दिखना आम बात है।

कैंसर अकाल मृत्यु के प्रमुख कारणों में से एक है।

साधारण कैंसर के प्रकार

  • मेलेनोमा (Melanoma)
  • ल्युकेमिआ (Leukemia)
  • लंग कैंसर (Lung cancer)
  • ओरल कैंसर (Oral cancer)
  • लिवर कैंसर (Liver cancer)
  • ब्रेस्ट कैंसर (Breast cancer)
  • ब्लैडर कैंसर (Bladder cancer)
  • किडनी कैंसर (Kidney cancer)
  • प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer)
  • स्टोमाक कैंसर (Stomach cancer)
  • थाइरोइड कैंसर (Thyroid cancer)
  • पैंक्रिएटिक कैंसर ( Pancreatic cancer)
  • एसोफाजाल कैंसर (Esophageal cancer)
  • एंडरॉटियल कैंसर (Endometrial cancer)
  • कोलन और रेक्टल कैंसर (Colon and Rectal cancer)
  • नॉन होडग्किन्स लिंफोमा (Non-Hodgkin’s lymphoma)

ब्रैस्ट कैंसर (Brest cancer) और लंग कैंसर (Lung cancer) सबसे ज्यादा पायी जाती है ।

लाखों लोगों को हर साल नॉनमेलानोमा (Non -melanoma) त्वचा कैंसर से पीड़ित होते हैं ।

नॉनमेलानोमा कैंसर इतना घातक नहीं है ,इस रोग से पीड़ित रोगियों में से सिर्फ 0. 1 प्रतिसत लोगो की जान जाती है ।

अलग अलग कैंसर के लिए अलग अलग लक्ष्यण हो सकते हैं । कुछ कैंसर जैसे पैंक्रिएटिक कैंसर में तुरंत लक्षण पैदा नहीं होते हैं।

इस लेख में हम कुछ ऐसे लक्षणों के बारे में बात करेंगे जो हर तरह के कैंसर में कम या ज्यादा मात्रा में देखने को मिलते हैं।

cancer ke lakhyan

कैंसर के लख्यण

1. वजन कम हो जाना

यह कैंसर का सबसे पहला लक्ष्यण है ।

कैंसर कोशिकाएं शरीर में स्वस्थ कोशिकाओं पर हमला करती हैं, जिससे शरीर का वजन कम होने लगता है।

कैंसर के शुरुआती दौर में अक्सर लोगों का वजन 4 से 5 किलो तक होता है।

कुछ कैंसर में वजन बहत जल्दी कम हो जाता है जैसे :

  • लंग (Lung )
  • स्टोमाक (Stomach)
  • पैंक्रिएटिक (Pancreatic)
  • एसोफाजाल (Esophageal)

2. दर्द और थकान

थकान कैंसर का एक और लक्षण है। यह सभी प्रकार के कैंसर का सबसे आम लक्षण है।

थकान जो पर्याप्त नींद लेने के बाद भी दूर नहीं होती है, एकअंतर्निहित स्वास्थ्य समस्या का संकेत देती है।

ब्लड कैंसर (Blood cancer) में थकान महसूस होना आम बात हे । ज्यादा रक्त हानि से भी थकान महसूस होती है ।

कुछ मामलों में, बढ़ा हुआ कैंसर दर्द का कारण बन जाती है, जैसे पीठ दर्द अदि ।

कैंसर जिसमे दर्द हो सकते हैं :

  • प्रोस्टेट (Prostate)
  • ओवरी (Ovary)
  • रेक्टम (Rectum)
  • कोलन और रेक्टल (Colon and Rectal )

3. तेज बुखार

बुखार वह प्रतिक्रिया है जो तब होती है जब शरीर संक्रमण या बीमारी के संपर्क में आता है।

जिन लोगों को कैंसर होता है उनमें भी लक्षण के रूप में बुखार होता है ।

यह इस बात का संकेत है कि शरीर में कैंसर बढ़ गया है और यह अपने उच्च स्तर पर पहुंच गया है।

ब्लड कैंसर (Blood cancer) और ल्यूकेमिया (Leukemia) जैसी बीमारियों में बुखार शुरुआती लक्षण के रूप में दिखाई देता है।

4. रक्त की हानि

कुछ कैंसर में असामान्य रूप से रक्त की हानि होती है ।

कोलन और रेक्टल कैंसर (Colon and Rectal cancer) में मल में खून आती है और प्रोस्टेट कैंसर (Prostate cancer) में पेशाब में खून आती है।

अगर आपको ऐसा लक्षण दिखे तो तुरंत अपने डॉक्टर (Doctor) से संपर्क करें ।

स्टोमाक कैंसर (Stomach cancer) में अंदरूनी अंगों में काफी खून की कमी हो जाती है, लेकिन बाहर से इसका पता लगाना मुश्किल होता है।

5. लगातार खांसी

खांसी एक प्राकृतिक तरीका है जिससे शरीर अवांछित पदार्थों को बाहर निकालता है। खांसी जुकाम, एलर्जी, फ्लू या कम आर्द्रता के कारण भी हो सकती है।

लेकिन लंग कैंसर (Lung cancer) में में यह लंबे समय तक बना रहता है। बार-बार खांसने से गले में खराश हो जाती है।

जैसे-जैसे बीमारी बढ़ती है खांसी भी बढ़ती है और खांसी में खून आने लगता है।

लगातार खांसी कभी-कभी थायराइड कैंसर के लक्षण के रूप में पाई जाती है।

6. त्वचा में बदलाव

त्वचा में बदलाव अक्सर स्किन कैंसर (Skin cancer) का लक्षण होता है, जिसमें तिल या मस्से का आकार बढ़ने लगता है।

जैसे की मुँह सफ़ेद धब्बे ओरल कैंसर का मुख्य लक्षण होता है ।

कैंसर की बजह से त्वचा में और भी बदलाव है :

  • त्वचा का लाल होना
  • काले धब्बे का बढ़ना
  • पीली आँखें और त्वचा
  • त्वचा के बालों का तेजी से विकास

त्वचा के कैंसर के कारण त्वचा के दाग-धब्बे ठीक नहीं होते, ठीक होने पर भी वापस आ जाते हैं।

7. पाचन क्रिया में गड़बड़ी

कुछ ऐसे कैंसर भी होते हैं जिनमें खाने में दिक्कत होती है जैसे खाना निगलते समय दर्द महसूस होना, भूख में बदलाव और खाने के बाद दर्द भी महसूस होना।

स्टोमाक कैंसर (Stomach cancer) में शुरूआती दिनो मे बहत कम लक्षण दिखाई देते हैं, जैसे की अपच, मैथिलि , उल्टी, और सूजन ।

निगलते समय दर्द महसूस होना एसोफाजाल कैंसर (Esophageal cancer) का लक्षण है ।

मैथिलि , उल्टी ब्रेन कैंसर (Brain cancer) की वजह से होती है ।

8. रात को भारी पसीना आना

हलाकि रात में पसीना आने का कई अलग कारण होते है ,लेकिन कैंसर की वजह से रात में बहत ज्यादा पसीना आता है जिससे मरीज पूरी तरह से भीग जाता है।

ब्लड कैंसर (Blood cancer) , नॉन होडग्किन्स लिंफोमा (Non-Hodgkin’s lymphoma) और लिवर कैंसर (Liver cancer) के शुरूआती चरणों में रात में बहत पसीना आता है ।

बिना लक्षण वाले कैंसर

कैंसर में लक्षण दिखना आम बात है, लेकिन कुछ कैंसर ऐसे भी होते हैं जिनमें शुरूआती दौर में कोई लक्षण नजर नहीं आता।

पैंक्रिएटिक कैंसर ( Pancreatic cancer) तब तक कोई लक्षण नहीं दिखाता जब तक कि यह शरीर में पूरी तरह से फैल न जाए।

कुछ मामलों में, लंग कैंसर (Lung cancer) में खांसी के अलावा बहुत ही सूक्ष्म लक्षण होते हैं।

कुछ ऐसे कैंसर भी होते हैं जो शरीर में कैल्शियम की मात्रा को बढ़ा देते हैं और बिना लैब टेस्ट के इसका पता लगाना मुश्किल होता है।

किडनी कैंसर (Kidney cancer) के शुरूआती दौर में भी इसके कोई लक्षण दिखाई नहीं देते हैं।

निष्कर्ष

कैंसर से बचना तो आपको अपनी सरीर का ध्यान रखना होगा ।

अगर कैंसर आपके वंशानुगत रोग तो आपको बिच बिच में स्क्रीनिंग टेस्ट (Screening test) करेने के साथ साथ वार्षिक जांच करना न भूले ।

शुरूआती लक्षण को पहचान कर आबस्यक उपचार करने से आप कैंसर मुक्त हो सकते है।

Similar Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published.